कोचिंग से घर लौटे बच्चों ने मां को इस हाल में देखा तो, पैरो तले जमीन खिसक गई - उम्मीद

Breaking

Sunday, September 2, 2018

कोचिंग से घर लौटे बच्चों ने मां को इस हाल में देखा तो, पैरो तले जमीन खिसक गई

बांदा। शहर के शंकर नगर इलाके में रहने वाली एक महिला ने अपने सूने घर में गमछे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घर पहुंचे बेटे ने देखा तो पिता को जानकारी दी। परिवारीजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम कराया।
मिली जानकारी के अनुसार शंकर नगर मुहल्ला निवासी राजकुमारी (40) पत्नी बृजेश कुमार ने शनिवार की शाम को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जिस दौरान यह घटना हुई, उस समय घर में कोई नहीं था। मृतका का पति बृजेश दुकान में काम पर गया हुआ था जबकि उसकी बेटी ज्योति और पुत्र आलोक कोचिंग पढ़ने गए हुए थे। कोचिंग पढ़ने के बाद जब भाई-बहन घर वापस आए तो देखा कि मां का शव फंदे पर लटका हुआ था। बेटे ने पिता को मोबाइल के जरिए जानकारी दी तो बृजेश भी मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने शव को फंदे से नीचे उतारकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम कराया। पोस्टमार्टम हाउस में बृजेश ने बताया कि उसकी आमदनी कम थी। वह स्टेशन रोड स्थित एक दुकान में काम करके अपने परिवार का भरण पोषण करता था।
बृजेश ने बताया कि आर्थिक तंगी के चलते काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। उसने बताया कि उसके गांव सिवहद (गिरवां) में तकरीबन 15 बीघा से अधिक जमीन है, लेकिन वह जमीन बंजर होने के कारण उस पर पैदावार नहीं होती थी। राजकुमारी के आत्महत्या कर लेने से परिवारीजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

नीचे दिए गए प्लेटफार्मों से जुड़कर लगातार पढ़ें खबरें...

-----------------------------------------------------------
हमारे न्यूज पोर्टल पर सस्ते दर पर कराएं विज्ञापन।
सम्पर्क करें: मो. 8081732332, 9918557796
-----------------------------------------------------------
आप की उम्मीद न्यूज पोर्टल
डिजिटल खबर एवं विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें।
मो. 8081732332, 9918557796
-----------------------------------------------------------


-----------------------------------------------------------


-----------------------------------------------------------

Post Bottom Ad