सीतापुर: यह सिक्के लोगों की परेशानी का सबब बन रहे है - उम्मीद

Breaking

Sunday, September 2, 2018

सीतापुर: यह सिक्के लोगों की परेशानी का सबब बन रहे है

महमूदाबाद सीतापुर। सरकारी करेंसी के तौर पर अरसे से प्रचलन में चल रहे एक रूपये का छोटा सिक्का को लेने से लोग कतराने लगे हैं जिसके बाद पैदा हुई स्थिति में तरह तरह की अफवाहों का बाजार गरम हो गया है। आलम यह है कि कोई इन सिक्कों को नकली ठहरा रहा है तो कोई इसका प्रचलन बंद हो जाने की दलीलें दे रहा है जिसके असर के कारण लोगों ने इसका लेन देन ही बंद कर दिया है।1 रूपये का छोटा वाले सिक्के लोगों की परेशानी का सबब बनते जा रहे है।
तमाम लोगों में अब भी यह भ्रान्तियां तेजी से फैल रही है कि 1 रूपये का छोटा वाला सिक्का अब नही चल रहा हैं। एक तरफ बैंकों द्वारा लोगों को हजारों रूपयों का भुगतान 1 रूपये के सिक्कों के रूप में किया जा रहा है वही तमाम दुकानदार खासकर शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के लोगों से 1 रूपये का छोटा सिक्का लेने से इंकार कर रहे है। दुकानदारों के पास हजारों रूपयें के सिक्के पडे है पर दुकानदारों से लेकर बैंक तक इन्हें लेने वाला कोई नही है। अब दुकानदार अपनी पीडा कहें तो किससे। इससे पूर्व दस रूपये का 15 तीली वाला व जिस पर र नही लिखा हैं उसे भी व्यापारी व ग्राहक नही ले रहे थे जिसके बाद प्रशासन ने एनाउन्समेंट कराकर दस रूपये के सिक्के न लेने वालों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करने की बाद कही थी जिसके बाद सभी लोग दस रूपये का सिक्का लेने लगे थे। पांच सौं व एक हजार रूपया के नोट बन्द होने के बाद बैंकों द्वारा लोगों को छोटी करेंसी के रूप में लोगो को हजारो लाखो की संख्या में 1 रूपये के सिक्के दिये गये थे।
जिससे धीरे धीरे अब बाजार में इन सिक्कों की भरमार हो गई है। लोग दुकानदारों के पास सैकडों की संख्या में सिक्के लेकर सामान लेने आते है। जब यही दुकानदार लोगों से सिक्के लेकर ग्राहकों को वापस करता है तो तमाम ग्राहक सिक्के लेने से इंकार कर देते है। अब छोटे दुकानदारों के पास हजारो की संख्या में एक रूपये के छोटे सिक्के जमा है जिन्हें न तों ग्राहक ले रहे है और न ही बडे दुकानदार । छोटी पूंजी लगाकर काम करने वाले दुकानदारों के सामने पूंजी का संकट खडा हो गया है। यदि वह ग्राहक से सिक्के न लें तो ग्राहक पुलिस को फोन करता है और यदि ग्राहक सिक्के न ले तो दुकादार पुलिस कों फोन भी नही कर सकता क्योंकि उसे ग्राहक खोने का डर भी है। कुल मिलाकर पिछले कई माह से 1 रूपये के सिक्के बन्द होने की अपवाह जोरों पर थी। अब यही सिक्के आम आदमी से लेकर दुकानदारों तक के लिए जी का जंजाल बने है।

नीचे दिए गए प्लेटफार्मों से जुड़कर लगातार पढ़ें खबरें...

-----------------------------------------------------------
हमारे न्यूज पोर्टल पर सस्ते दर पर कराएं विज्ञापन।
सम्पर्क करें: मो. 8081732332, 9918557796
-----------------------------------------------------------
आप की उम्मीद न्यूज पोर्टल
डिजिटल खबर एवं विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें।
मो. 8081732332, 9918557796
-----------------------------------------------------------


-----------------------------------------------------------


-----------------------------------------------------------

Post Bottom Ad