हरिद्वार: जब रिश्ते की नींव शब्द पर हो जाय तो समझिये रिश्ता समाप्तः संतोषानन्द | #AAPKIUMMID - उम्मीद

Breaking

Wednesday, May 1, 2019

हरिद्वार: जब रिश्ते की नींव शब्द पर हो जाय तो समझिये रिश्ता समाप्तः संतोषानन्द | #AAPKIUMMID


  • हरिद्वार स्थित अपने आश्रम पर स्वामी जी ने भक्तों को दिया सामाजिक संदेश

हरिद्वार। जब किसी रिश्ते की नींव शब्द पर टिक जाती है तो उसी दिन से समझ लीजिये कि वह रिश्ता कमजोर है, क्योंकि उसी दिनसे रिश्ता कमजोर पड़ता चला जाता है। आप तर्क-वितर्क करके बातों को तो संभाल लेंगे परंतु शब्द ने उस रिश्ते पर जो प्रहार किया होता है, वह बिल्कुल कैंसर की तरह होता है जो धीरे-धीरे अपना असर दिखाता है और अन्त में उस रिश्ते की मौत हो जाती है।

उक्त विचार श्री श्री 1008 स्वामी संतोषानन्द देव जी महाराज ने हरिद्वार स्थित अपने आश्रम पर उपस्थित भक्तों के बीच व्यक्त किया। उन्होंने आगे कहा कि अपने रिश्तों को सम्भाल करके रखिये। जब भी आपके मन में अपने रिश्ते को लेकर कोई हल्का सा भी संदेह आये तो उसका तुरन्त उपचार कीजिये। अपने उस रिश्ते को याद कीजिये। मन को याद दिलाइये। क्या है वह आपके लिये। आप याद करिये कि कैसा समय गुजरा आपका? उस रिश्ते में अगर फिर भी मन में खटास है, कड़वाहट है, नफरत आ गयी है तो सबसे बड़ी बात है कि उसमें शक ने जगह बना ली है तो अलग हो जाइये, क्योंकि तब उस दर्द से बच जायेंगे जो रिश्ते में रहते हुये पल-पल मिलेगा आपको।
स्वामी जी ने कहा कि याद रखिये, बारिश मन को भले हल्का करती हो परंतु कदमों को भारी कर देती है। ठीक उसी तरह आपका रिश्ता कमजोर हो सकता है परंतु कदमों को भारी करके कब तक चल पायेंगे। जब रिश्तों में स्पष्टीकरण की मांग शुरू होती है तब बड़े से बड़े शब्द भी काम नहीं आते हैं।




DOWNLOAD APP



No comments:

Post a Comment

नीचे दिए गए प्लेटफार्मों से जुड़कर लगातार पढ़ें खबरें...

-----------------------------------------------------------
हमारे न्यूज पोर्टल पर सस्ते दर पर कराएं विज्ञापन।
सम्पर्क करें: मो. 8081732332
-----------------------------------------------------------
आप की उम्मीद न्यूज पोर्टल
डिजिटल खबर एवं विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें।
मो. 8081732332
-----------------------------------------------------------


-----------------------------------------------------------


-----------------------------------------------------------

Post Bottom Ad