जौनपुर: राजनीति के कबीर थे सीताराम यादवः प्रो. लाल रत्नाकर | #AAPKIUMMID - उम्मीद

Breaking

Thursday, March 14, 2019

जौनपुर: राजनीति के कबीर थे सीताराम यादवः प्रो. लाल रत्नाकर | #AAPKIUMMID


  • सपा के संस्थापक सदस्य की मनायी गयी 5वीं पुण्यतिथि

जौनपुर। समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य व आजीवन राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य सीताराम यादव की पुण्यतिथि पर  भावभीनी श्रंद्धाजलि दी गयी। श्रद्धांजलि देते समय उपस्थित सभी लोग भावुक हो गये। किसी ने उन्हें राजनीति का कबीर तो किसी ने विचारों और सिद्धांतों का धनी बताया। साथ ही आज के नेताओं को स्व. यादव के विचारों से सीख लेने की बात कही गयी।
जनपद के महराजगंज क्षेत्र के रमदेइया गांव में गुरूवार को आयोजित 5वीं पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा के मुख्य अतिथि एमएच कालेज गाजियाबाद में फाइन आर्ट विभाग के हेड चित्रकार प्रो. लाल रत्नाकर ने कहा कि सीताराम का चरित्र युवा वर्ग के लिये अनुकरणीय है। सीताराम ने जीवन पर्यंत समाजवादी विचारधारा को आगे बढ़ाया और कठिन परिस्थितियों में भी वे अपने मार्ग से नहीं डिगे।
जौनपुर में समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य व राष्ट्रीय कार्यकारिणी
के सदस्य सीताराम यादव की 5वीं पुण्यतिथि पर उपस्थित लोग।

प्रो. रत्नाकर ने कहा कि वे हम लोगों के बीच नहीं हैं लेकिन उनके आदर्श आज भी हम लोगों का मार्गदर्शन करने के लिये काफी है। राजनीति में रहते हुये भी जरूरत पड़ने पर वह कठोर बातों को भी कहने से नहीं हिचकते थे। कई बार दलगत भावना से ऊपर उठकर उन्होंने नसीहत भी दिया।
सपा जिलाध्यक्ष व पूर्व विधायक लाल बहादुर यादव ने कहा कि बाबू सीताराम मेरे राजनीति गुरू थे। उनके आशीर्वाद से ही हम विधायक बने। उनके द्वारा दिये गये राजनीतिक ज्ञान के बल पर ही आज भी राजनीति कर रहा हूं। साथ ही सीताराम के ज्येष्ठ पुत्र व महाराष्ट्र सपा के प्रदेश उपाध्यक्ष अजय यादव ने कहा कि बाबू जी हमारे साथ नहीं हैं लेकिन विचार व उनके द्वारा दिये गये संस्कार का अनुसरण कर परिवार को सही दिशा में ले जाने का कार्य कर रहे हैं। पूर्व विधायक उमाशंकर यादव ने कहा कि समतामूलक समाज में विश्वास करते थे। उनके विचार, सोच व दृष्टि में एक समृद्ध भारत की तस्वीर रही है। उनकी संवेदना हमेशा आम आदमी के इर्द-गिर्द घूमती रहती थी।
पूर्व विधायक ओम प्रकाश दुबे बाबा ने कहा कि श्री यादव संवेदनशील थे। भावनात्मक थे लेकिन सख्त भी उतने ही थे। गलत कामों को वह हरगिज बर्दाश्त नहीं करते थे। हीरा लाल यादव ने कहा कि श्री यादव ने हमेशा दबे-कुचले व गरीबों को आगे बढ़ाने का काम किया जो एक सच्चा समाजवादी ही कर सकता है। श्रंद्धाजलि सभा की अध्यक्षता डा. मनराज यादव ने किया। इस मौके पर आये लोगों का स्वागत मुनिराज व राजाराम यादव ने संयुक्त रूप से किया।
श्रंद्धाजलि सभा में डा. महावीर यादव, राम उजागिर, भोला यादव, वेदांत, प्रभु, राम चन्दर, राजेन्द्र यादव, ओम प्रकाश मौर्य, राजनाथ यादव, रमापति यादव, रामजनक यादव, अजीत यादव बाबा, सन्दीप यादव, राजेश, पूर्व प्रधान महावीर, सुरेन्द्र यादव, दिनेश यादव सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।






DOWNLOAD APP



No comments:

Post a Comment

नीचे दिए गए प्लेटफार्मों से जुड़कर लगातार पढ़ें खबरें...

-----------------------------------------------------------
हमारे न्यूज पोर्टल पर सस्ते दर पर कराएं विज्ञापन।
सम्पर्क करें: मो. 8081732332
-----------------------------------------------------------
आप की उम्मीद न्यूज पोर्टल
डिजिटल खबर एवं विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें।
मो. 8081732332
-----------------------------------------------------------


-----------------------------------------------------------


-----------------------------------------------------------

Post Bottom Ad